लोकतंत्र की सफलता की शर्तें

Conditions to Successful Democracy

Hello दोस्तों ज्ञानउदय में आपका एक बार फिर स्वागत है और आज हम बात करते हैं, राजनीति विज्ञान में लोकतंत्र की सफलता की शर्तों के बारे में । वह कौन-कौन से आवश्यक तत्व है, जिनसे लोकतंत्र की सफलता को सुनिश्चित किया जा सकता है । एक सफल लोकतंत्र के द्वारा किसी देश का विकास और निर्धारित लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है । तो जानते हैं आसान भाषा में ।

लोकतंत्र का परिचय (introduction of Democracy)

किसी देश को चलाने के लिए शासन व्यवस्था का होना बहुत जरूरी है । शासन व्यवस्था कई तरीके की होती है, जिससे कि किसी देश के शासन को चलाया जा सकता है । जैसे राजतंत्र, राजतंत्र में एक राजा होता है और बाकी प्रजा होती है । सैनिक शासन, तानाशाही शासन या एक दलीय प्रणाली आदि । यह शासन व्यवस्था के प्रकार हैं ।

अमेरिका के राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन ने लोकतंत्र की परिभाषा दी है, जो निम्न तरह है ।

“जनता का जनता के लिए और जनता द्वारा किया गया शासन, लोकतंत्र कहलाता है ।”

अगर आप लोकतंत्र के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं, तो आप नीचे दिए गए Link पर Click करके लोकतंत्र के बारे में जान सकते हैं ।

लोकतंत्र क्या है ? (Introduction of Democracy) जानने के लिए यहां Click करें ।

भारत मे लोकतंत्र

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ और 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था । संविधान के द्वारा नागरिकों के लिए स्वतंत्रता, समानता तथा बहुत सारे अधिकार दिए गए हैं । इस तरह से भारतवर्ष में लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था को अपनाया गया । जहां नागरिकों के द्वारा वयस्क मताधिकार के आधार पर अपने प्रतिनिधियों को चुना जाता है और उन प्रतिनिधियों के द्वारा सरकार बनाई जाती है । इस तरह अगर देखा जाए तो भारत का लोकतंत्र दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र माना जाता है ।

लोकतंत्र पर नेहरू जी के विचारों के लिए यहाँ Click करें ।

लोकतंत्र की प्रतिकूल परिस्थितियां

आइए अब जानते हैं, उन परिस्थितियों के बारे में जो लोकतंत्र के प्रतिकूल हैं । जिनके कारण लोकतंत्र की सफलता में रुकावटें पैदा होती हैं । भारत का बहुत बड़ा होने के कारण जनसंख्या भी बहुत अधिक है । जिस वजह से देश में शिक्षा का अभाव पाया जाता है । बड़े स्तर पर आर्थिक असामानता पाई जाती है और राजनीति की परिस्थितियां भी संकीर्ण है । कुशल तथा निस्वार्थ नेतृत्व का आभाव भी पाया जाता है और देश में भ्रष्टाचार बड़ी मात्रा में विद्यमान हैं । इन सब कठिनाइयों और समस्याओं को दूर करके ही एक लोकतंत्र में निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति की जा सकती है ।

लोकतंत्र की सफलता की शर्तें

आइए अब जानते हैं, लोकतंत्र की उन शर्तों के बारे में जिनके कारण लोकतंत्र की सफलता सुनिश्चित की जा सकती है । हालांकि लोकतंत्र बहुत अच्छी व्यवस्था है । लेकिन काफी सारे लोग लोकतंत्र की आलोचना भी करते हैं, क्योंकि लोकतंत्र में धन और बल का बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है । पैसे और शक्ति का गलत इस्तेमाल किया जाता है । लेकिन फिर भी इसमें सुधार करने के बाद लोकतंत्र की सफलता सुनिश्चित की जा सकती है । निम्नलिखित कारणों से हम लोकतंत्र की सफलता को अर्जित कर सकते हैं ।

पढें:: धर्मनिरपेक्षता क्या है ? Click Here ।

1) जनता में शिक्षा तथा जागरूकता लाकर एक लोकतंत्र को मज़बूत बनाया जा सकता है । बड़े लेवल पर जनता को जागरूक करने के लिए और शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देने के लिए इससे संबंधित अभियान चलाए जा सकते हैं ।

2) आर्थिक तथा राजनीतिक समानता द्वारा भी एक श्रेष्ठ लोकतंत्र की नींव रखी जा सकती है । इसके लिए सभी तरह के नागरिकों को राजनीति में शामिल करने के लिए और राजनीतिक सिद्धांतों में और निर्णयों में पारदर्शिता लाई जा सकती है ।

3) नागरिकों का उच्च नैतिक स्तर करके भी लोकतंत्र की सफलता अर्जित की जा सकती है । जनता के नैतिक स्तर को बढ़ावा देकर उनको हर तरीके की सुविधाएं देकर इसको हासिल किया जा सकता है ।

लोकतंत्र के महत्वपूर्ण स्तम्भ विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के बारे में जानने के लिए यहाँ Click करें ।

4) नागरिक स्वतंत्रता इस तरह से लोकतंत्र में नागरिकों को आदर्श स्वतंत्रता है । इस तरह नागरिकों द्वारा उद्देश्यों को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है

5) सामाजिक एकता और एकजुटता के द्वारा भी लोकतंत्र की सफलता प्राप्त की जा सकती है । इसमें सामाजिक रुप से एकता को बल दिया जा सकता है । जिससे सभी एक उद्देश्य के लिए कार्य करें ।

6) स्वस्थ तथा जागरूक राजनीतिक दल का होना एक लोकतंत्र की सफलता के लिए बहुत ही आवश्यक है । इस तरह जागरूक राजनीतिक दल सकारात्मक रूप से अपनी जनता को भी जागरूक कर सकते हैं ।

7) स्वतंत्र प्रेस तथा प्रचार के साधनों का प्रयोग करके भी लोकतंत्र की सफलता को सुनिश्चित किया जा सकता है । प्रेस और प्रचार के साधनों का सकारात्मक रूप में इस्तेमाल करके भी लोगों को देश की विकास नीतियों के बारे में बताया जा सकता है । जिससे कि नागरिक भी लोकतंत्र की सफलता में अपना योगदान दे सकें ।

संसदीय कार्यपालिका क्या है ? जानने के लिए यहाँ Click करें ।

8) बुद्धिमान तथा सतर्क नेतृत्व द्वारा भी लोकतंत्र की सफलता पाई जा सकती है । क्योंकि बुद्धिमान और सतर्क नेतृत्व द्वारा देश के हित में सही फैसले लिए जा सकते हैं ।

9) शांति और व्यवस्था लोकतंत्र की सफलता के लिए यह बहुत जरूरी है कि देश में शांति का माहौल हो आंतरिक रूप से और भाइयों रूप से किसी भी आक्रमण का नागरिकों को कोई डर ना हो और नागरिकों के लिए लोकतंत्र में व्यवस्था भी सामने चाहिए ।

तो दोस्तो ये थीं, लोकतंत्र की सफलता की शर्तें की कुछ महत्वपूर्ण शर्तें, हालांकि इसके अलावा सफलता की बहुत सारी शर्तें हो सकती हैं । अगर Post अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ ज़रूर Share करें । तब तक के लिए धन्यवाद !!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.